रक्षाबन्धन की शुभकामनायें…..कमल भंसाली

image

एक चमन की दो डाली
एक है खिलता फूल,
दूसरी, नाजुक कली
दोनों का एक ही स्पंदन
दोनों का है, एक बन्धन
एक है भाई, दूसरी बहन
दोनों की रक्षा करे
वो त्यौहार है, “रक्षा बन्धन”

फूल की तरह खिलता आता भाई
नयन स्नेह से भर बहन मुस्कराती
भैया की सुनी कलाइयां निहारती
राखी अद्भुत, रिश्तों की है, गहराई

एक धागा प्रेम का, आस्था विश्वास का
बन्धन है, यह अंतिम सांस तक का
कम नहीं हो, कभी इसकी पवित्रता
इसमें समायी, जीवन भर की मित्रता

भाई बहन का रिश्ता, जिसको मिलता
वो भाग्य शाली ही, सदा फलता फूलता
ध्यान रहे, कभी न टूटे, इस रिश्ते की डोर
टूटने से हर रिश्ते में, आती है, गहरी दरार

आज रक्षा बन्धन, है, राखी का त्यौहार
“शुभकामनाये”, अपनत्व सदा बना रहे
भाई से पाये बहना, जीवन रक्षा का उपहार
बहन के नयनों में भाई बना रहे, सदाबहार….कमल भंसाली

1