🌞एक अदद मुस्कराता 🌞सूर्य 🌕 कमल भंसाली

एक अदद सूर्य
मुझे वो चाहिए
जो हर चेहरे पर
सुरमई सिंदूरी
मुस्कराहट छितराये
उसके बाद
वहीं ठहर जाए
बिखरे तो
हर चेहरा
जग आलोकित
प्रकाश बन जाये
एक अदद…..

दोस्तो,
💕
जिंदगी जब हंसती
कितनी अच्छी लगती
बिखर जाती मस्ती
छा जाती है बहार
फिजा भी खिला देती
खुशियों के गुल हजार
पक्षी भी चहचहाते
प्यार, प्यार, प्यार
हंसते ही रहना
दोस्तों
गम चाहे हो
तुम्हारे पास हजार
क्योंकि
मुझे चाहिए
एक अदद…..
💕
हर पल को जी लेना
हर दर्द को पी लेना
अपने प्रयासों से
हर उलझन को सुलझा लेना
पर
मेरे दोस्तों
एक कसम ले लेना
फरियाद किसी से न करना
दस्तूर दुनिया के
सब हंस कर निभाना
अपनों के साये में
बेगानापन का रहता
अदन्त अंधियारा
दूर हो जाएगा
मंजिल का हर किनारा
धुंधला पन
मन का बढ़ जाएगा
हर चाहत का
दिल टूट जाएगा
शायद
फिर कभी
उग नहीं पायेगा
मुस्कराता चहचहाता
एक अदद सूर्य…..
💕
एक मुखी
सूर्य की रोशनी
जब उज्ज्वलता बरसाती
नील अम्बर की
आभा ही खिल जाती
एक मुखी मुस्कराहट भी
गमगीन चेहरों पर
नई ऊर्जा बिखेर जाती
जीने के इस अंदाज पर
सरे राह चलती
हर जिंदगी गुनगुनाती
एक अदद…..
रचियता ✍ 💖 कमल भंसाली 💖