💃तेरी बेवफाई 🕺✍️ कमल भंसाली

Advertisements

💘वो मेरा दिल ही तो है 💝✍️कमल भंसाली

जीवन की हर रस्म में
हर गम को सहन करने वाला
वो मेरा दिल ही तो है
क्यों न इससे ही प्यार करुं

हर रिश्तें पर जो न्यौछावर हुआ
वो मेरा दिल ही तो है
क्यों न इसका इकरार करुं

उम्र की ऊंची नीची पगडंडियों पर
बिन रफ्तार खोये साथ चला
वो मेरा दिल ही तो है
क्यों इससे मैं इंकार करुं

घायल हुआ दुनिया के दस्तूरों से
बिन शिकायत धड़कता रहा
वो मेरा दिल ही तो है
क्यों न इसका इकरार करुं

जिस्म की हर कमजोरी को
हर पल सहा
वो मेरा दिल ही तो है
क्यों न उसका शुक्रिया अदा करुं

जन्म से पहले से
मृत्यु तक की यात्रा का हमसफर
निर्धन पर निडर
वो मेरा दिल ही तो है
क्यों न उसका ही गुणगान करुं

रचियता✍️कमल भंसाली

👨‍❤️‍👨तेरी जुदाई✍️कमल भंसाली

वक्त की रुसवाई और तुम्हारी बेवफाई
सनम मेरे दिल को दे रही दर्दीली तन्हाई
हालात बदल गये हो गई हमारी जुदाई
खाई कसमों को मौहब्बत रास न आई
वक्त…

मौसम का मिजाज भी काफी बिगड़ गया
चांद भी गम के काले बादलों में छिप गया
तन्हा हो दिल तेरे इश्क में बदनाम हो गया
प्यार का तुम्हारा तौहफा दिल को रुला गया
वक्त…

कल तूं जब कभी किसी गैर के आलिंगन में होगी
कसम से हमारी राहे उस दिन से अलग अलग होगी
वो शायद जिंदगी की आखरी जज्बाती रात होगी
जिसमें बेवफा कहकर ही दिल को सांत्वना मिलेगी
वक्त….

जिसकी भी बनो तुम उसकी ही रहना
अब कभी पहलू बदल न बदनाम होना
कल मेहंदी जिसके भी नाम की रचाना
उसको ही जन्म भर का प्रियतमा बनाना
वक्त…

टूटा दिल भी अजीब सी आरजू करता रहता
झूठी मौहब्बत के लिए सदा ही इबादत करता
दिल देकर दर्द के मंजर के इर्द गिर्द ही घूमता
अपनी हस्ती भूल परवाना बन कर जल जाता
वक्त…

रचियता ✍️ कमल भंसाली

👏मेरे प्रभु👏कमल भंसाली✍️

हे प्रभु
खूबसूरती मेरे जीवन को दीजिये
मेरी सारी कमियों को हर लीजिये
पथ की कठिनाइयों को दूर कीजिये
महत्व जीवन का सब समझा दीजिये
👏
हे प्रभु
जिसे अभी तक जीवन समझता रहा
आपको भूल रास्ते नये तलाशता रहा
उनकी हर कमी को ही अपनाता रहा
इस भूल को मेरी आज सुधार दीजिये
👏
हे प्रभु
मानव मन मेरा सदा कमजोर रहा
वासनाओं के फूल ही सूंघता रहा
संयम ही जीवन है ये भूलता रहा
इस भूल का निदान समझा दीजिये
👏
हे प्रभु
असत्य की धुरी पर घूमता रहा जीवन
पथ भटका न मिली कोई सही मंजिल
आदर्शों के गीत तो सदा ही गाता रहा
पर अपनाने से हरदम ही कतराता रहा
जीवन की सही मीमांसा समझा दीजिये
👏
हे प्रभु
जीवन आपका दिया है पवित्र वरदान
समर्पण आप में ही रहे जब तक रहे प्राण
जिस विधि से करुं मैं सही से वापस प्रयाण
उस यज्ञ की सारी रस्में आज समझा दीजिये
👏
हे प्रभु
सकल सफल रहे मेरा यह अनमोल जीवन
हर पथ आपको समर्पित होकर बने पावन
इस जन्म की हर पीड़ा का हो यहीं समापन
गमन पथ को अब मेरी मंजिल समझा दीजिये

👏🏼रचियता और प्रार्थना कार✍️ कमल भंसाली👏

उल्फत की रानी 😛चुनाव महारानी🤑कमल भंसाली

उल्फत कि रानी
प्रफुलित चांदनी
निखर रही प्रखर रही
धवल भारत की वसुंधरा
गुंजन भरीआवाजों से सहम रही
चुनावी मौसम आया
नेताओं का जमघट छाया

दूर गगन में हजारों सितारे
नभ को फुसला रहे
चांदनी को प्राप्त करने के लिए
कसमें खा रहे
वादे कर रहे
दूर जैसे
नेताओं के भाषण
भारत की जनता को
सुनहरे भविष्य की कल्पना कर रहे

दूर एक टूटी फूटी झोंपड़ी में
एक माँ
भूखी नंगी संतान को
सहला सहला कर
बिन भविष्य सुला रही
कई आवाजें
देश को प्रगति पथ पर
ले जाने की बात कर रही
भ्रमित जनता से
आश्वासन मांग रही
उनके मूल्यवान वोट को
अवमूल्यन कर
हसीन ख्बाबों की सैर करा रही

मजबूरी में देश उनका विश्वास कर रहा
कह रहे
कल देश का फिर
भविष्य तय हो रहा
थोड़े दिन में सब कुछ बदल जायेगा
कोई बच्चा
खाली पेट न सोयेगा
हमारा यह वादा रहा
देश स्वर्ग हो जायेगा
आपको भी स्वर्ग में रहने का
कुछ और ही आनन्द आएगा

उल्फत कि रानी
पता नही किसे
कैसे नहा गई
भूखी माँ भी
बेखबर हो सो गई। ….कमल