🎃सपने🎃 कमल भंसाली

शीर्षक: सपने
सपने बड़े प्यार होते है
उनमें से कुछ सितारे होते है
सपने हर रोज देखना
उन्हीं में, मंजिलों के किनारे होते है

हक़ीक़क्त से दूर न हो जाना
बिगड़े सपनों के साथ न जाना
गुलाम न हो जाओ, ख्याल रखना
साकार न हो तो भी, सदा मुस्कराना

मायूस करे जो सपने, दुःखी न होना
ऐसे सपनों को भूल से, अपना न कहना
हुनर तुम्हारा पास है, नये रंग उन्हें देना
चाँदनी रात में, उन्हें नये ढंग से सजाना

नव-कर्म से बिता हर दिन, नये सपने लाता
सपनों का भी बाजार, अच्छा मंहगा होता
गलत सपनों के आने से, मन बैचेन हो जाता
न आये ऐसे सपने तो, हर सपना सच हो जाता
✍️ कमल भंसाली

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.