💟प्यार के रंग कुछ खुशबूओं के संग💟 कमल भंसाली

💑 1
उनकी निगाहों के साये
दिल के अरमान जगायें
वो न जाने चाहतों के दाग
कभी यो नहीं छिपाये जाये
💚2
प्यार की खुशबू जब फैले
मन की कलिया चटक जाये
सूरत बार बार सामने आये
बैचेनी दिल की बढ़ती जाये
💙3
बड़े बेबाक होते हुस्नवाले
जब चाहे जो कसम खाले
अंदाज होते जान लेने वाले
तड़प पर सदा मुस्कराने वाले
💓4
नाशाद हुआ दिल प्यार को तरसता
भीगी आंखों से जुदाई को कोसता
सितमगर उनकी अदायें कह नही पाता
प्यार का जज्बाती अंदाज समझ नहीं पाता
💕5
क्या यही प्यार है
नहीं जवानी का बुखार है
असली प्यार तो बहुत समझदार है
वो निगाहों का नहीं दिल का वफादार है
❤ 6
प्यार चाहत नहीं त्याग है
प्यार आलिंगन नहीं समर्पण है
प्यार इबादत का कोई नाम है
सच, प्यार विश्वास की प्रार्थना है
💚7
इसलिए मेरे दोस्तों
प्यार को सिर्फ अहसास ही समझो
जवानी का एक मनोरोग ही समझो
जिस्म की जरुरत को प्यार न समझों
प्यार की खूबसूरती, उपासना से समझों
💔8
करो खूब प्यार करो
हर रिश्ते को जी भर निहारों
स्नेह के आवरण से और विस्तारों
पर, धोखे से इसका नाम बदनाम न करो
नहीं तो फिर प्यार को प्यार ही रहने दो
विनती है, सिर्फ इसका अहसास ही करो
💘रचियता✍ कमल भंसाली

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.