💐कमल काव्य सरोवर 🏀 मूल्यांकन और समीक्षा⚽

“कमल काव्य सरोवर” दीपावली, 2014 के आसपास बिना किसी उत्कृष्ट लेखकीये प्रतिभा के मेरा एक प्रयास मात्र था, अपनी भाषा में कुछ लिखने का, परन्तु उसमे एक उद्धेश्य भी तय था। अपनी राष्ट्रीय भाषा के प्रति मेरा मोह और इस ब्लॉग द्वारा यह अहसास उन सभी भाषा के प्रेमियों को दिला सकु, कि हिंदी में लिखने के लिए ज्यादा भारी भरकम और अलंकारित शब्दों की जरुरत नहीं होती। दिल से लिखिए, दिमाग अपने आप सीधे सादे शब्दों का प्रयोग स्वयं ही कर लेगा। इस दीपावली को Word Press पर शुरु किये इस ब्लॉग की साइड को करीबन दो साल हो जाएंगे, और इसके परिणाम का सुखद अनुभव जो मुझे हो रहा है, उससे मुझे यह विश्वास होने लगा की जिंदगी में विशिष्ठ होना सहज न हो पर निरन्तर प्रयास जीवन को सही दिशा की ओर घुमाया जा सकता है। इस प्रयास के तहत जो कुछ अनुभव मैंने प्राप्त किये अभी तक उनमे सर्वश्रेष्ठ यही रहा कि हिंदी को अगर कम कलिष्ट अलंकारो के साथ सादगी से लिखा जाय, तो आज के व्यस्तम समय में लोग इसे पढ़ना पसंद करते है। दूसरा दूसरे देशों में रहनेवाला भारतीय या हमारी भाषाओं के प्रति रूचि रखने वाला हिंदी को अंग्रेजी के समकक्ष की भाषा से कम नहीं आँकता।

हकीकत और सच्चाई यह है, कि हिंदी का उच्चतम साहित्यिक ज्ञान मेरे पास नहीं है, पर उसके प्रति मेरा अथक प्रेम बचपन से रहा, और अनेक कठिनाइयों के बावजूद ” कमल काव्य सरोवर” एक हिंदी का अच्छा ब्लॉग साबित हो रहा है। हालांकि बचपन से मेरा हिंदी साहित्य के प्रति लगाव रहा और 16 वर्ष की उम्र से करीबन सभी विशिष्ठ लेखको के उपन्यास, कविता और हिंदी साहित्य सम्बन्धी सामग्री पढ़ने का सोभाग्य रहा । हायर सैकण्डरी की परीक्षा के साथ हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयाग द्वारा संचालित परीक्षा ” विशारद ” पास की। हिंदी के प्रति मेरा प्यार ही “कमल काव्य सरोवर” की उपज है, और एक कोशिश भर है। त्रुटिया और गलतिया अनेक हो सकती है, सुधार होता रहेगा, अगर आपका आलोचनात्मक साथ मिलता रहें। “कमल काव्य सरोवर” की कमजोरिया आप दूर करने में सहयोग करे। वैसे मेरी जीवन साथी शायर जो खुद भी हिंदी में “विशारद” है, और व्याकरण में मेरे से ज्यादा अनुभव रखती है, वो इन दिनों सारी रचनाओं का व्याकरण सम्बन्धी सम्पादन करती है। इस सहयोग के लिए उसे धन्यवाद ।

           

                 

** कमल काव्य सरोवर की उपलब्धि अब तक एक ब्लॉग का नाम।… ******कमल काव्य सरोवर******

ब्लॉग साइड.. वर्ड प्रेस ( WORD PRESS )
लेखक……………..कमल भंसाली
अभी तक रचनाये …….काव्य और जीवन उपयोगी लेख
कुल रचनाये अभी तक….360 ( आज तक )
कुल विजिटर…..4700 लगभग ( आज तक )
कुल वियूज……..8600 लगभग ( आज तक )
जिन देशो में ” कमल काव्य सरोवर ” को अब तक देखा और पढ़ा गया, उनकी सूची…..

1.INDIA
2. U.S A
3. AUSTERLIA
4. UNITED KINGDOM
5. INDONESIA
6. SRI LANKA
7. NEPAL
8. QUTAR
9. SAUDI ARABIYA
10. MALAYSIA
11.SINGAPORE
12.FRANCE
13. NORWAY
14. BRIZAL
15. ITALY
16. UNITED ARAB EMIRATES
17. PORTUGAL
18. SPAIN
19. CANADA
20. THAILAND
21. TURKEY
22. HONG KONG SR CHINA
23. ALGERIA
24. BANGALA DESH
25.PAKISTAN
26. HUNGARY
27.GREECE
29. GERMANY
30.MAYANMAR
31. ETHIOPIA
32. EUROPEAN UNION
33. IRELAND
34. OMAN
35.SWEDEN
36.SOUTH AFERICA
37.ARGENTINA
38. KUWAIT
39.BELGIUM
40.JAPAN
41.NETHERLAND
42. PHILIPPINES
43. RUSSIA
45.ISRAEL

15, ज्यादा पढ़ी गई रचनाये

1. दैनिक दिनचर्या
2. उलझन मन की सुलझे ना
3. प्रेम और वासना…एक चिंतन भरी चर्चा
4. बेहतर जीवन शैली भाग
आशंका, भय, और डर ..कमजोरी मन की
5 प्यार और वासना…एक चिंतन भरी चर्चा
भाग 2 अंश 2
6. बेहतर जीवन शैली भाग
सादा जीवन,उच्च विचार..6
7. उस पार का मोक्ष
8. “आशीर्वाद” अमृतमय ऊर्जा प्रदाता
9. दोस्ती …..एक चर्चा भावुकता भरी
10. जीवन चिंतन भाग 1 सही समय सही चिंतन
11. आखिर मैं हूँ तुम्हारा पिता
12. तेरी मेरी दोस्ती
13. कतरा कतरा हुई, जिंदगानी
14. यथार्थ
15. आ मुस्करा ले, जरा

हालांकि, कमल काव्य सरोवर को भारत और अमेरिका से ज्यादा पाठक मिले । बाकी उपरोक्त देशों में यह जाना गया, काफी महत्वपूर्ण है। धीरे धीरे बाकी देशो में भी इसकी पाठक संख्या बढ़ रही है, यह शुकून की बात है।
1. भारत 6000 लगभग
2. अमेरिका 2300 लगभग
( अगर आंकड़ों के प्रति कोई शंका निवारण करनी हो तो आप “कमल काव्य सरोवर” को word press पर खोज कर states में आप सब आंकड़ों का निरीक्षण कर सकते है। आप गूगल में भी इस नाम से खोज सकते है।)

“कमल काव्य सरोवर” आप सभी के सहयोग के लिए धन्यवाद देना चाहता है, और प्रार्थना भी करता है, कि आप अपनी आलोचनात्मक प्रतिक्रिया देते रहे, जिससे हिंदी को शुद्धता के साथ सीधी और सरल शैली के साथ प्रस्तुत करने का प्रयास जारी रह सके। अगर “कमल काव्य सरोवर” आपको यह प्रेरणा दे सके कि आप भी अपने मन की बात ब्लॉग के रुप में लिखने का मन बना ले तो निसन्देह यह “कमल काव्य सरोवर” की एक उत्तम उपलब्धि होगी। न भूले, कमल काव्य सरोवर एक साधारण द्वारा लिखी स्वयं की रचनाओं का संग्रह है, अतः गलतियों के लिए क्षमा योग्य है। मेरा विश्वास सदा नेपोलियन हिल के इस वाक्य पर रहा है, ” STRENGTH AND GROWTH COME ONLY THROUGH CONTINUOUS EFFORT AND STRUGGLE ” आप सभी की यह दीपावली मंगलमय और आलोकमय हो, इन्ही भावनाओं के साथ…..कमल भंसाली

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.